Personal Loan क्या है? हासिल करें पूरी जानकारी!

By user | December 7, 2019

आपने शायद यह नोटिस किया हो कि आज Loan लेकर मँहगी चीज़ों को ख़रीदने वाले ग्राहकों की संख्या काफी तेजी से बढ़ी है। जी हाँ! हालाँकि इसके साथ ही ग्राहकों में चीज़ों की ख़रीद करके एक साथ पैसे न चुका कर उसको EMI या किश्तों में चुकाने का ट्रेंड भी काफ़ी बढ़ सा गया है।

अक्सर लोग घर, गाड़ी, या किसी बीमारी पर इलाज़ के ख़र्चे, बच्चों की पढ़ाई और यहाँ तक की शादी के लिए भी बैंकों से Laon हासिल कर पाते हैं।

लेकिन असल में इन Personal जरूरतों के लिए मिलने वाला यह Personal Loan होता क्या है? और भला आप अपनी किन-किन जरूरतों के लिए यह Loan ले सकतें हैं? और इसको चुकाने के क्या-क्या नियम हैं?

इन सभी सवालों का जवाब आज हम आपको अपने इस ब्लॉग के जरिये देने जा रहें हैं। तो अगर आपको भी हासिल करनी है Personal Loan से जुड़ी हर छोटी बड़ी जानकारी तो हमारा यह ब्लॉग आगे जरुर पढ़े!

क्या है Personal Loan?

जैसा कि नाम से ही जाहिर है, Personal Loan वह लोन है, जिसे कोई व्यक्ति बैंकों या गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (NBFC) से अपनी व्यक्तिगत जरूरतों को पूरा करने के लिए लेता है। हालाँकि बैंक और NBFC यह लोन कुछ आधारों की जाँच करके ही देते हैं, जैसे आपकी आय, लोन हिस्ट्री, रोजगार हिस्ट्री, भुगतान की क्षमता आदि।

हालाँकि आपको बता दें कि होम लोन या कार लोन से अलग, Personal Loan के लिए आपको संपत्ति गिरवी नहीं रखनी पड़ती है। और साथ ही न इसको हासिल करने के लिए आपको प्रॉपर्टी या गोल्ड के कागजातों की जरूरत पड़ती है।

साथ ही आपके द्वारा यही लोन चुका पाने के संबंध में कोई डिफ़ॉल्ट का मामला सामने आता है, तो ऐसे में भी लोन प्रदाता आपकी प्रॉपर्टी को नीलाम नहीं कर सकता है।

हालाँकि इन सहूलियतों से अलग Personal Loan पर ब्याज दरें होम, कार या गोल्ड लोन की तुलना में अधिक होती है, जिसका साफ़ सा कारण यह है कि लोन प्रदाता के पार्ट पर इसमें अधिक जोखिम भी होता है।

लेकिन इसका मलतब यह नहीं है कि लोन न चुका पाने (डिफ़ॉल्ट केस) पर लोन लेने वाले को ज्यादा नुकसान नहीं होगा। दरसल ऐसे केस में लोन लेने वाले व्यक्ति की क्रेडिट रिपोर्ट ख़राब होने के साथ ही साथ उसको भविष्य मिएँ क्रेडिट कार्ड व नया लोन लेने के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

किन- किन कारणों के लिए ले सकतें हैं Personal Loan?

Personal Loan में सबसे दिलचस्प बात यह है कि इसका उपयोग किसी भी व्यक्तिगत वित्तीय आवश्यकता के लिए किया जा सकता है और बैंक इसके उपयोग की निगरानी नहीं करता है।

आप घर खर्चों, शादी से संबंधित खर्चों, परिवार के साथ छुट्टी मामने संबंधी खर्चों, शिक्षा, कोई इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस ख़रीदने, अन्य घरेलू सामान की ख़रीदने, अचानक आए मेडिकल खर्चों या किसी अन्य आपात स्थितियों की जरुरतों के लिए Personal Loan हासिल कर सकतें हैं।

वही आप Personal Loan का उपयोग बिज़नेस में इन्वेस्ट करने के लिए या अपनी कार की मरम्मत करवाने के लिए, या फ़िर अपने नए घर का भुगतान करने आदि के लिए भी कर सकतें हैं।

Personal Loan पाने का क्या है Eligibility Criteria?

Personal Loan पाने के लिए Eligibility Criteria की बात करें तो यह अगल-अलग बैंकों और NBFCs के लिए थोड़ा अलग हो सकता है। लेकिन सामान्य तौर पर इसमें आपकी Eligibility को आपकी आयु, व्यवसाय/रोजगार, आय, लोन चुकाने की क्षमता, निवास स्थान और लोन संबंधित हिस्ट्री जैसे पैमाने तय करते हैं।

दरसल Personal Loan पाने के लिए आपके पास एक नियमित आय स्रोत होना चाहिए, आप किसी कंपनी में एक वेतनभोगी कर्मचारी भी हो सकतें हैं या फ़िर आपका स्वयं का व्यवसाय भी हो सकता है।

वहीँ सामान्यतः आवेदनकर्ता की उम्र 21 से 65 वर्ष के बीच होनी चाहिए साथ ही उसकी in-hand सैलरी
20,000 (मासिक) से अधिक होनी चाहिए।

साथ ही आपको बता दें आपका सैलरी मोड भी चेक/बैंक ट्रांसफर के रूप में होना चाहिए। साथ ही आपका क्रेडिट स्कोर 650 या इसके ऊपर होना चाहिए।

दिलचस्प यह है कि किसी भी व्यक्ति की Eligibility उसकी कंपनी जिसमें वह काम करता है, उसकी क्रेडिट हिस्ट्री आदि से भी प्रभावित हो सकती है

Loan की अधिकतम अवधि

सामान्यतः Personal Loan की अवधि 1 से 5 साल (12 से 60 महीनें) तक की होती है, हालाँकि यह बैंकों पर भी निर्भर करता है। कुछ बैंकों द्वारा और भी कम अवधि के लिए लोन उपलब्ध करवा दिया जाता है, और कुछ इस अवधि और और बढ़ाने की भी इजाज़त देते हैं, हालाँकि यह कम ही बैंकों में देखने को मिलता है।

Loan मिलने में लगने वाला समय और राशि

अगर आपके पास जरूरी कागजात तैयार हैं तो आपको आमतौर पर Personal Loan के लिए अप्लाई करने के 7 कार्य दिवसों के भीतर ही लोन प्रदान कर दिया जाता है।

Loan अप्रूव होने के बाद आपको या तो तय Loan राशि के बराबर का चेक/ड्राफ्ट प्रदान कर दिया जाता है, या फ़िर कई बैंक सीधे इलेक्ट्रॉनिक रूप से आपके सेविंग अकाउंट में राशि भेज देते हैं।

वहीँ अगर बात की जाए कि आप Personal Loan के तौर पर कितनी राशि ले सकतें हैं? तो हम आपको बता दें कि यह मुख्यतः आपकी आय पर निर्भर करता है और साथ ही इस पर भी कि आप खुद का बिज़नेस चला रहें हैं या जॉब कर रहें है।

आपको बता दें आमतौर पर बैंक Loan की राशि को इस प्रकार सीमित कर देते हैं ताकि आपकी EMI आपकी मासिक आय की 40-50% से अधिक न हो।

इसके साथ ही Loan के लिए अप्लाई करने के दौरान आप पर उस वक़्त अन्य कितने लोन चल रहें हैं, यह भी Loan की राशि तय करने का मुख्य कारक होता है। खुद का बिज़नेस चलाने वाले व्यक्ति के Loan राशि का निर्धारण उसके लाभ / हानि के स्टेटमेंट के अनुसार अर्जित लाभ पर भी निर्भर करता है और साथ ही उसकी अतिरिक्त देनदारियों (जैसे व्यवसाय के लिए वर्तमान ऋण, क्रेडिट कार्ड बिल की बकाया राशि आदि) को भी ध्यान में रखते हुए ही लोन की राशि तय की जाती है।

साथ ही अगर बात करें बैंक से मिल सकने वाले न्यूनतम Personal Loan की राशि कि तो हम आपको बता दें यह सीमा बैंकों से अनुसार बदलती रहती है। हालाँकि सामान्य तौर पर अधिकांश बैंकों और NBFCs ने अपनी न्यूनतम Personal Loan की मूल राशि 30,000 व अधिकतम राशि 50,00,000 रुपये निर्धारित की हुई है।

Personal Loan के लिए किन-किन Documents की होती है जरूरत?

Personal Loan के लिए आवेदन करते समय बैंकों या NBFCs द्वारा माँगे जाने वाले Documents मुख्यतः संस्थानों के अनुसार बदलते रहतें हैं। लेकिन कुछ ऐसे भी महत्वपूर्ण Documents होतें हैं, जो लगभग सभी बैंकों या NBFCs में Personal Loan के लिए आवेदन के दौरान माँगे ही जाते हैं, और वो हैं:
* निवेदक का KYC (आधार कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट साइज़ फ़ोटो)
* Income का प्रमाण (बीते 3 महीनें की सैलरी स्लिप/ सैलरी सर्टिफिकेट, सैलरी अकाउंट के बीते 6 महीनों का statement, वर्तमान ऑफिस से अपॉइंटमेंट लेटर )
* निवास प्रमाण पत्र (aadhar, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, पोस्टपेड बिल, बैंक statement, इलेक्ट्रिक बिल, रेंट aggreement के साथ)
* मौजूदा लोन (Sanction Letter, Loan Repayment Schedule)

क्या किसी के साथ मिलकर लिए जा सकता है एक Personal Loan?

हम आपको बता दें आप Personal Loan अकेले या फ़िर संयुक्त रूप से अपने पति/पत्नी या माता-पिता के साथ मिलकर ले सकतें हैं। इस तरह मिलकर एक Personal Loan लेने से आपके लोन में संयुक्त रूप से अधिक आय प्रदर्शित होने पर आप एक बड़ा लोन लेने के लिए Eligible हो जाते हैं।

हालांकि इस बात का ध्यान रखें कि आपके साथ Personal Loan के लिए आवेदन कर रहे व्यक्ति की भी क्रेडिट हिस्ट्री खराब न हों, अन्यथा Loan प्राप्त करने में मुश्किलें आ सकती हैं।

Personal Loan के संबंध में Part Payment,और Pre-Closure से क्या मतलब है?

Part Payment: जब आप लोन की पूरी मूल राशि से थोड़ी कम राशि का भुगतान एक साथ करना चाहतें हैं, तो इसको Part Payment का नाम दिया जाता है, इसके जरिये आपकी EMI किश्तें भी कम हो जाती हैं, क्यूंकि आप मूल राशि का कुछ हिस्सा एक साथ समय से पहले दे देते हैं। हालाँकि कुछ बैंक आपको यह सुविधा प्रदान करते हैं और कुछ नहीं। साथ ही कई बार आपको इसके लिए एक फ़ीस भी देनी पड़ सकती है।

Pre-Closure: जब आप समय के पहले ही अपने Loan की पूरी अदायगी करना चाहते हैं तो इस प्रक्रिया को Pre-Closure कहतें हैं। कुछ बैंक लोन के Pre – Closure की सुविधा देते हैं और कुछ नहीं। कुछ बैंकों में 6 महीने से एक साल तक का Lock-In होता है और कुछ में Pre – Closure फ़ीस भी लग सकती है। वहीँ कुछ बैंक आपको पहली EMI Debit होने के बाद ही Pre – Closure की अनुमति देते हैं। सामान्यतः Pre-Closure के लिए लगने वाली फ़ीस Loan राशि की 1- 2% तक हो सकती है।

क्या होगा अगर आप Personal Loan की EMI समय पर न भरें?

अगर आप अपनी EMI को समय पर नहीं भरते हैं, तो कुछ बैंक आपको इसके लिए एक जुर्माने स्वरुप में फ़ीस के साथ उस पिछली EMI का भुगतान करने की सहूलियत देते हैं। लेकिन याद रहे यह आपके क्रेडिट स्कोर में बुरा प्रभाव भी डाल सकता है।

क्या हो अगर आप कुछ समय बाद Personal Loan का भुगतान करने में असमर्थ हों?

अगर आप अपने लोन को चुका पाने में असमर्थ हैं और लोन की EMI इत्यादि को भरते ही नहीं हैं तो ऐसे में बैंकों द्वारा सबसे पहले रिकवरी एजेंटों के माध्यम से देय राशि को प्राप्त करने की कोशिश की जाती है।

और यदि तब भी बैंक को सफ़लता नहीं मिलती है तो वह आपकी क्रेडिट रिपोर्ट और अकाउंट को डिफ़ॉल्ट के रूप में चिह्नित कर देता है, जिससे आपको भविष्य में लोन या क्रेडिट कार्ड मिलने में काफी मुश्किलें आ सकती हैं।

अब आप भी GroMo Partner बनकर Personal Loan से जुड़ी इन तमाम जानकारियों को अपने नेटवर्क में शेयर करके लोगों के बीच एक विश्वसनीय Loan Expert के रूप में अपनी पहचान बना सकतें हैं और साथ ही GroMo के साथ 50+ बैंकों के Personal Loan Plans अपने नेटवर्क में बेचकर Commission Income (कमीशन इनकम) के तौर पर हर महीनें 50,000 रूपये से अधिक की Extra Income (एक्स्ट्रा कमाई) भी कमा सकतें हैं। वह भी यह Income आप अपनी Existing Job के साथ Work From Home (वर्क फ्रॉम होम) की तरह कर सकतें हैं। यह Part Time Job आपको देगी Online Money Earn करने का सुनहरा मौका।

इसके साथ ही GroMo आपको समय समय पर Extra Incentives भी प्रदान करता है। तो देर कैसी आज भी बनें GroMo Partner और शुरू करें Extra कमाई!

अभी GroMo Partner बनने के लिए यहाँ क्लिक करें!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *